मेरा अपना संबल

रेलवे की एस.एम.एस. शिकायत सुविधा : मो. नं. 9717630982 पर करें एसएमएस

रेलवे की एस.एम.एस. शिकायत सुविधा   :  मो. नं. 9717630982 पर करें एसएमएस
रेलवे की एस.एम.एस. शिकायत सुविधा : मो. नं. 9717630982 पर करें एस.एम.एस. -- -- -- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ट्रेन में आने वाली दिक्कतों संबंधी यात्रियों की शिकायत के लिए रेलवे ने एसएमएस शिकायत सुविधा शुरू की थी। इसके जरिए कोई भी यात्री इस मोबाइल नंबर 9717630982 पर एसएमएस भेजकर अपनी शिकायत दर्ज करा सकता है। नंबर के साथ लगे सर्वर से शिकायत कंट्रोल के जरिए संबंधित डिवीजन के अधिकारी के पास पहुंच जाती है। जिस कारण चंद ही मिनटों पर शिकायत पर कार्रवाई भी शुरू हो जाती है।

जून 16, 2010

बधाईयाँ सिसोदिया जी बधाईयाँ , गेंद उछल कर आपके कोर्ट में जो आई

छत्तीसगढ़ लॉन टेनिस एसोसिएशन ने इस बार विक्रम सिसोदिया को अपना नया अध्यक्ष चुना है । खोखा - खोखा भर के बधाईयाँ सिसोदिया जी । (पाटक समझें न समझें , सिसोदिया जी समझते हैं खोखे की भाषा )  ।  सिसोदिया , मुख्यमंत्री डॉ रमण सिंह के विशेष कर्तव्यस्थ अधिकारी ( ओ एस डी ) हैं । सेंट्रल एक्साईज डिपार्ट्मेंट में अधिकारी हैं ।
मुख्यमंत्री जी के पुराने और काफ़ी करीबी माने जाते हैं , आप साहबान !
इंदौर से यहां आकर छत्तीसगढ़ लॉन टेनिस एसोसिएशन का सर्वोच्च पद सुशोभित करना हमें ( स्थानीय लोगों को ) कई संदेश देता है , लिहाजा निःसन्देह  आप बधाई के पात्र हैं ।
 लगता है इस बार टेनिस बॉल में अच्छी उछाल थी , तभी तो उस ऊंचाई तक उछल गई जहां पर आप विराजमान थे । यह खेल भी तो ऊचें लोगों का ही  है न सिसोदिया जी  , तो इस लिहाज से गेंद  ठीक जगह ही पंहुची है ,  न ।  हम छत्त्तीसगढ़ के लोग तो मुंह बाये ये उछाल देखते ही रह गये। अब ज्यादा कुछ समझ भी तो नहीं आता है ,  हम लोगों को , वो कहते हैं ना बड़े लोगों की बड़ी बातें । बस ऐसा ही है कि हर रोज कुछ न कुछ ऐसा होता जा रहा है और हम सब देखते रह  जा रहे हैं । वो तो अच्छा हुआ कि आप जैसे योग्य लोग हमारे प्रदेश में मौजूद हैं नहीं तो ना जाने क्या होता हमारे प्रदेश के खेल संघों का ? आपने लाज रख ली है , बस यही बहुत है ,अब आपके आशीर्वाद से यह खेल और भी अधिक समृद्ध - सम्पन्न हो जायेगा , पद ग्रहण किया बड़ी मेहरबानी । आजादी से पहले भी भारतीय लोग अंग्रेज अफ़सरों के गेंद के एक खेल को बड़ी हैरत अंगेज नजरों से , दूर से देखा करते थे , अब भी उतनी ही दूरी से अपने देशी अफ़सरों के खेल देखगें , वैसे भी ये खेल मंहगा है , गेंद मंहगी , रैकेट मंहगा , लॉन मंहगी , ड्रिंक मंहगा , सब कुछ तो मंहगा है ना,भला हम लोग कैसे - कहां से खेलेंगे ये खेल  ?  क्यों ठीक कहा ना ? खैर छोड़िए ये सब बेकार की बातें , आपको तो मुबारक  हो  छत्तीसगढ़ की  " लॉन "  और उसमें उछलने वाली " बॉल " । लॉन भी   " हरी-भरी "  है और बॉल भी  " हरी-हरी "  है ।

3 टिप्‍पणियां:

  1. kya tarike se dhoya hai boss!

    word veryfication hatane par comment karne walo ko suvidha hogi

    उत्तर देंहटाएं
  2. देश के सारे खेल संघों का यही हाल है

    उत्तर देंहटाएं
  3. निश्चित रूप से सिसोदिया साहेब के आने से गुरु चरण होरा और लन टेनिस दोनों की भलाई है-बज्रघोस

    उत्तर देंहटाएं

आपकी मूल्यवान टिप्पणी के लिए कोटिशः धन्यवाद ।

फ़िल्म दिल्ली 6 का गाना 'सास गारी देवे' - ओरिजनल गाना यहाँ सुनिए…

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...