मेरा अपना संबल

रेलवे की एस.एम.एस. शिकायत सुविधा : मो. नं. 9717630982 पर करें एसएमएस

रेलवे की एस.एम.एस. शिकायत सुविधा   :  मो. नं. 9717630982 पर करें एसएमएस
रेलवे की एस.एम.एस. शिकायत सुविधा : मो. नं. 9717630982 पर करें एस.एम.एस. -- -- -- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ट्रेन में आने वाली दिक्कतों संबंधी यात्रियों की शिकायत के लिए रेलवे ने एसएमएस शिकायत सुविधा शुरू की थी। इसके जरिए कोई भी यात्री इस मोबाइल नंबर 9717630982 पर एसएमएस भेजकर अपनी शिकायत दर्ज करा सकता है। नंबर के साथ लगे सर्वर से शिकायत कंट्रोल के जरिए संबंधित डिवीजन के अधिकारी के पास पहुंच जाती है। जिस कारण चंद ही मिनटों पर शिकायत पर कार्रवाई भी शुरू हो जाती है।

सितंबर 23, 2010

संदर्भ 24 सितम्बर : अफ़वाहों से दूर एक सच्चाई यह भी , अयोध्या मामला अब 28 के बाद सुनाया जायेगा फ़ैसला

                             आग्रह : - अफ़वाहों और बहेलियों (आज के नेताओं ) से बचें , अपनों को बचाएं , अपने देश को बचाएं । जय हिन्द  ॥ टिप्प्णी को क्लिक कर राष्ट्रीय एकता - अखण्डता के लिए अपना संदेश दें ।         साथियों की टिप्पणियाँ भी जरूर पढ़ें ।   सुप्रीम कोर्ट 28 को सभी पक्षों को सुनेगा । मध्यस्तता को लेकर सभी पक्षों की राय क्या है ? यह जानने का प्रयास होगा । यदि सुलह की कोई गुंजाईस हो तो उसे भी सुना-समझा जायेगा ,फ़िर कोई तिथी तय होगी अयोध्या मामले पर फ़ैसला सुनाने के लिए  । रमेश चंद्र त्रिपाठी की याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने आज इस आशय के नए निर्देश जारी किए  ।    हमारा मानना तो यह भी है कि शायद कॉमन वेल्थ गेम्स करा लिए जाने तक देश में शांति कायम रखने की पुरजोर कोशिशें दिल्ली   सरकार  करती रहेगी । सरकार चाहेगी कि कोई भी फ़ैसला इसके बाद हो ।  अयोध्या मामले पर कल साढ़े तीन बजे के बाद इलाहाबाद हाई कोर्ट का फ़ैसला आना था ।                                       

4 टिप्‍पणियां:

  1. आपने बिल्कुल सही कहा है कि अफ़वाहों और बहेलियों से हमें अपने देश को बचाना चाहिए! मेरा तो ये मानना है कि हमारा देश तभी उन्नति और प्रगति कर सकता है अगर हम मिलजुलकर काम करें और एकता बनाये रखें!

    उत्तर देंहटाएं
  2. Hum Kaun hai ? hum kya hai ? Kya aaj Insaniyat sirf Hindu Musalman Sikh Isai Marathi aur na jane insaano ke banae dharmo mae hi simat kar rah gayi hai. Kya hum kabhi acche Insaan nahi kahla sakte bajae ek accha musalman ,accha hindu ya accha hindustani ya angrez ya kuch bhi kahlane se. Bhai saheb aaj shanti samiti ki meeting mae baethe ye dharm ke Thekedaar hi kal apne logo mae dharmik unmaad paida karenge.kya sarkar iske liye 100% chintit hai,agar hai to dharm ke thekedaaron ko nikaal kar har mohalla,gali aur kasbo se jawan baccho ko prerit karo aur insaaniyat ka paigaam insano ke haton phailao na ki shaitano ko apna khel khelne do.Dhanyawad aapka jo aapne is vishay par chintan kiya.

    उत्तर देंहटाएं
  3. 24th September a most awaited decision is yet 2 arrive..some may win ,some
    may loose but before, enjoying victory or feeling sorrow fOr defeat..(whatever
    your caste may be) just have a thought that no god may be RAM or ALLAH..would
    never say to build his temple or mosque with blood of human beings.....'So
    stay clam - STAY HUMAN' already many people have lost their family
    memebers..some more are not required to make it understand that..these
    blood sheds helps no one...god made human beings..lets not divide them with
    cast, color or religion...

    HUMANITY IS THE BIGGEST RELIGION....

    STAND FOR HUMANITY..STAND FOR YOUR SELF....

    I STAND AGAINST TERRORISM and need ur helping hand to keep our country
    SAFE...


    (I don't say to forward this ,but just contribute something to STOP it )..

    उत्तर देंहटाएं
  4. मैंने अनुरोध किया तो कुमार अंबुज जी ने अपनी एक पुरानी कविता भेजी है। यह अब भी सामयिक है (अफसोस) ः-
    तुम्‍हारी जाति क्‍या है कुमार अम्‍बुज/ तुम किस के हाथ का खाना खा सकते हो/और पी सकते हो किसके हाथ का पानी/चुनाव में देते हो किस समुदाय के आदमी को वोट/ऑफिस में किस जाति से पुकारते हैं लोग तुम्‍हें/और कहॉं ब्‍याही जाती हैं तुम्‍हारे घर की बहन बेटियॉं/ बताओ अपने धर्म और वंशावली के बारे में/किस धर्मस्‍थल पर करते हो तुम प्रार्थनाऍं/ तुम्‍हारी नहीं तो अपने पिता/अपने बच्‍चों की जाति बताओ/ बताओ कुमार अम्‍बुज/इस बार दंगों में रहोगे किस तरफ/और मारे जाओगे किसके हाथों।

    उत्तर देंहटाएं

आपकी मूल्यवान टिप्पणी के लिए कोटिशः धन्यवाद ।

फ़िल्म दिल्ली 6 का गाना 'सास गारी देवे' - ओरिजनल गाना यहाँ सुनिए…

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...