मेरा अपना संबल

रेलवे की एस.एम.एस. शिकायत सुविधा : मो. नं. 9717630982 पर करें एसएमएस

रेलवे की एस.एम.एस. शिकायत सुविधा   :  मो. नं. 9717630982 पर करें एसएमएस
रेलवे की एस.एम.एस. शिकायत सुविधा : मो. नं. 9717630982 पर करें एस.एम.एस. -- -- -- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ट्रेन में आने वाली दिक्कतों संबंधी यात्रियों की शिकायत के लिए रेलवे ने एसएमएस शिकायत सुविधा शुरू की थी। इसके जरिए कोई भी यात्री इस मोबाइल नंबर 9717630982 पर एसएमएस भेजकर अपनी शिकायत दर्ज करा सकता है। नंबर के साथ लगे सर्वर से शिकायत कंट्रोल के जरिए संबंधित डिवीजन के अधिकारी के पास पहुंच जाती है। जिस कारण चंद ही मिनटों पर शिकायत पर कार्रवाई भी शुरू हो जाती है।

जुलाई 03, 2010

संवेदना

 संवेदना तुम कहाँ हो ?
लोग तो कहते हैं कि तुम मर गई ,
क्या यह सच है कि तुम
अब नहीं रही ?
कहते हैं मानवता में तुम्हारा वास था ,
मर्यादा तुम्हारा लिबास था ।
हर सांस में वेदना का साथ था ,
जुबां पर तुम्हारी, दया-करूणा का वास था ।
हमें लगता है, तुम मरी नहीं, यहीं-कहीं  हो ,
जहां कहीं भी हो आ जाओ  ।
वेदना को तुम्हारी तलाश है ,                                                                                             मर्यादा को तुम्हारे आने की आस है ।
                                                 तुम बिन दया - करूणा उदास है ,
                                                 मानवता को तुम्हीं से जीवन की आस है ।
                                             
                                                  - आशुतोष मिश्र
                                                   ( 14 सितम्बर 1993 )

7 टिप्‍पणियां:

  1. आपकी कविता बड़ी अच्छी लगी , संवेदना केवल कागजी या जुबानी ना हो बल्कि आत्मीय होनी चाहिए,इस तलाशी में हम भी आपके साथ है ..अशोक बजाज

    उत्तर देंहटाएं
  2. Mishraji,
    Ham bhi SAMVEDNA ke aane ka intejar kar rahe hai.

    उत्तर देंहटाएं
  3. आपकी कविता अच्छी लगी । इसी तरह लिखते जाइए ।
    अभिलाषा

    उत्तर देंहटाएं

आपकी मूल्यवान टिप्पणी के लिए कोटिशः धन्यवाद ।

फ़िल्म दिल्ली 6 का गाना 'सास गारी देवे' - ओरिजनल गाना यहाँ सुनिए…

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...